Jodhpur Projects Thread - Page 6 - SkyscraperCity
 

forums map | news magazine | posting guidelines

Go Back   SkyscraperCity > Asian Forums > India > North > North India projects > Rajasthan


Global Announcement

As a general reminder, please respect others and respect copyrights. Go here to familiarize yourself with our posting policy.


Reply

 
Thread Tools
Old May 1st, 2012, 05:50 PM   #101
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

60% of work for Jodhpur AIIMS completed

जोधपुर एम्स का 60 फीसदी काम पूरा: केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री

Quote:
जोधपुर। अखिल भारतीय आर्युविज्ञान अनुसंधान केंद्र (एम्स) दिल्ली की तर्ज पर जोधपुर में निर्माणाधीन एम्स (आवासीय ब्लॉक को छोड़कर) करीब 60 फीसदी काम पूरा हो गया है। शेष कार्य भी समय पर पूरा करने के प्रयास चल रहे हैं। एम्स के एकेडेमिक ब्लॉक का करीब 75 फीसदी निर्माण कार्य पूरा हो गया है। यह जानकारी केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री सुदीप बंधोपाध्याय ने मंगलवार को एम्स परिसर का निरीक्षण लेने के दौरान पत्रकारों को दी।

उन्होंने बताया कि मेडिकल कॉलेज का कार्य अगस्त तक पूरा हो जाएगा।

अगस्त से यहां शैक्षणिक शुरू किया जा सकेगा। एम्स के लिए निदेशक व अन्य फेकल्टी की नियुक्ति भी जल्दी होगी। साक्षात्कार प्रक्रिया पूरी हो गई है। राज्य मंत्री ने एम्स निर्माण में लगी तीनों कंपनियों के अधिकारियों व स्थानीय प्रशासनिक अधिकारियों के साथ बैठक कर निर्माण से जुड़े मुद्दों पर भी चर्चा की। एम्स अस्पताल भवन को पूरा करने का लक्ष्य इस सितंबर तक का है। लेकिन अभी तक 65 फीसदी ही काम पूरा हुआ है। इसके चलते इसमें देरी की संभावना है। एम्स का आवासीय ब्लॉक 2010 में ही तैयार हो चुका है।

source
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Sponsored Links
Advertisement
 
Old May 1st, 2012, 06:03 PM   #102
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

Handicraft export doubles in four years; goes from 800crores to 1600 crores

हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट: चार साल में दुगुना हुआ आंकड़ा, 800 करोड़ से 1600 करोड़ पहुंचा निर्यात

Quote:
जोधपुर

शहर से हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट एक बार फिर बढऩे लगा है। वर्ष 2011-12 में इसमें करीब 200 करोड़ रुपए की वृद्धि हुई है, जबकि पिछले चार वर्षों एक्सपोर्ट दुगुना हो गया है। वर्ष 2008 में एक्सपोर्ट का आंकड़ा 800 करोड़ रुपए था, जो वर्ष 2011-12 में बढ़कर 1600 करोड़ रुपए पहुंच गया है। निर्यातकों का मानना है कि जोधपुर से अंतरराष्ट्रीय मेला नहीं छिनता तो एक्सपोर्ट के आंकड़े और बढ़ जाते।

जोधपुर से हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट में वर्ष 2005-06 के बाद मंदी आई थी। उस वर्ष एक्सपोर्ट 1500 करोड़ था, जो वर्ष 2007-08 में घट कर 800 करोड़ रुपए तक पहुंच गया था। इसके बाद एक्सपोर्ट में फिर बढ़ोतरी शुरू हुई। तीन वर्षों में यहां दो अंतरराष्ट्रीय फर्नीचर एंड एसेसरीज शो आयोजित हुए, जिसमें 500 से ज्यादा विदेशी खरीदार आए थे। परिणामस्वरूप निर्यात का आंकड़ा 1400 करोड़ रुपए तक पहुंच गया। इस वर्ष एक्सपोर्ट 200 करोड़ रुपए बढ़ गया है, जिससे यह आंकड़ा 1600 करोड़ रुपए तक पहुंच गया है। इस वर्ष जोधपुर के तीन कंटेनर डिपो से 27 हजार 980 कंटेनर दुनिया के विभिन्न देशों में गए। गत वर्ष करीब 20 हजार कंटेनर ही जोधपुर से विदेश रवाना हुए थे। हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन के आंकड़ों के अनुसार एक कंटेनर में करीब 6 लाख रुपए का माल जाता है। इस हिसाब से वर्ष भर में करीब 1678 करोड़ रुपए का निर्यात हुआ।

डॉलर के भावों का असर

जोधपुर से होने वाले निर्यात के इन आंकड़ों पर करीब 7 हजार कंटेनर ज्यादा एक्सपोर्ट होने का तो असर पड़ा ही, साथ ही डॉलर के दरों में वृद्धि का भी असर हुआ है। वहीं अमेरिका सहित कुछ देशों में जोधपुर से एक्सपोर्ट बढ़ा है।

एक्सपोर्ट बढ़ा लेकिन मुनाफा घटा

॥जोधपुर का हैंडीक्राफ्ट आज भी विदेशियों की पसंद है, लेकिन परेशानी यह है कि डॉलर की बढ़ती दरों के कारण विदेशी अब भाव कम करने का कहने लगे है। इससे मुनाफा कम हो रहा है। ञ्ज

निर्मल भंडारी, अध्यक्ष जोधपुर हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन

॥जोधपुर से हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्ट में 200 करोड़ की बढ़ोतरी लगातार अंतरराष्ट्रीय फर्नीचर शो लगने के कारण हुई। यदि इस बार भी यह शो जोधपुर में होता तो एक्सपोर्ट का आंकड़ा ज्यादा बढ़ता।ञ्ज

डॉ. भरत दिनेश, सचिव जोधपुर हैंडीक्राफ्ट एक्सपोर्टर्स एसोसिएशन

source[
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old May 12th, 2012, 06:34 PM   #103
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

जेडीए चौहाबो में सड़कें बनाएगा

Quote:
भास्कर न्यूज त्न जोधपुर

चौपासनी हाउसिंग बोर्ड के विभिन्न सेक्टर की सड़कें बनाने के लिए जेडीए 150 लाख रुपए खर्च करेगा। जरूरत पडऩे पर अतिरिक्त राशि भी आवंटित करेगा। जेडीए चेयरमैन राजेंद्रसिंह सोलंकी ने शुक्रवार को हाउसिंग बोर्ड के सेक्टर 9 के मुख्य बाजार की सड़क के नवीनीकरण के कार्य का शुभारंभ करने के बाद आयोजित समारोह को संबोधित कर रहे थे। उन्होंने बताया कि सेक्टर नौ की सड़क के नवीनीकरण पर 16.30 लाख रुपए, सेक्टर 11 व 12 के बीच की सड़क पर 22.80 लाख रुपए, सेंट्रल एकेडमी स्कूल 17 सेक्टर वाया जीएसएस की सड़क के नवीनीकरण पर 27.15 लाख रुपए खर्च होंगे। इसी तरह सेक्टर 21ई में 30 लाख रुपए, सेक्टर 14 में 12.30 लाख रुपए, सेक्टर 8 व 9 के बीच होते हुए कोठारी अस्पताल जाने वाली सड़क पर 30.25 लाखरुपए खर्च किए जाएंगे। इस अवसर पर वरिष्ठ कांग्रेसी नेता कैलाश टाटिया, ब्लॉक अध्यक्ष राजेश रामदेव आदि उपस्थित थे।

पार्क का विकास होगा: जेडीए लक्ष्मीनगर पार्क की चारदीवारी की ऊंचाई बढ़ाने समेत अन्य विकास कार्य पर 10 लाख रुपए खर्च करेगा। चेयरमैन सोलंकी ने पार्क में विकास कार्यों का शुभारंभ करने के बाद बताया कि पार्कों का विकास उनकी पहली प्राथमिकता है। इस अवसर पर पार्षद रामसिंह सांजू, पूर्व न्यासी हनुमान सिंह खांगटा, एक्सईएन आलोक मालवीय, एईएन हिम्मतसिंह गहलोत उपस्थित थे।

115 लाख लागत की सड़कें बनेंगी: जेडीए विद्या नगर व उसके आसपास की विभिन्न कॉलोनियों में सड़कों के डामरीकरण पर 115 लाख रुपए खर्च करेगा। गुलजार नगर में चल रहे डामरीकरण के कार्य का आकस्मिक निरीक्षण करने के बाद जेडीए चेयरमैन ने कहा कि गुणवत्ता का विशेष ख्याल रखा जाए।


source
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Sponsored Links
Advertisement
 
Old May 16th, 2012, 06:40 PM   #104
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

New Masterplan to made which will be up to 2043


__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old May 27th, 2012, 02:15 AM   #105
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

Workshop on BRTS held, Mandore to Jaisalmer bypass route most viable in pre feasibility report

मंडोर से जैसलमेर बाइपास तक बीआरटीएस कॉरिडोर

Quote:
जोधपुर.शहर में बीआरटीएस (बस रैपिड ट्रांजिट सिस्टम) की संभावना व बीआरटीएस कॉरिडोर बनाने में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ सकता है। एशियन विकास बैंक (एडीबी) व जेडीए के संयुक्त तत्वावधान में आयोजित दो दिवसीय कार्यशाला में विशेषज्ञों ने शुक्रवार को प्रस्तावित बीआरटीएस व उसके रूट में आसपास के क्षेत्र के संस्थागत विकास की जरूरत बताई। प्रारंभिक सर्वे (प्री फिजिबिलिटी) में मंडोर से जैसलमेर बाइपास तक का मार्ग बीआरटीएस व उसके कॉरिडोर के लिए सबसे उपयुक्त माना गया, लेकिन इस रूट में सबसे ज्यादा दिक्कत उम्मेद स्टेडियम से जालोरी गेट सर्किल तक आएगी। बीआरटीएस के लिए सड़क की चौड़ाई छह लेन (25 से 30 मीटर) होनी चाहिए, लेकिन फिलहाल इस मार्ग की चौड़ाई 12 से 17 मीटर ही है।

12 मीटर लंबी होगी लग्जरी बसें

पहले चरण में मंडोर, भदवासिया, महामंदिर, पावटा, जालोरी गेट, पांचवीं रोड व 12वीं रोड, दल्लेखां की चक्की, अशोक उद्यान, पाल बालाजी होते हुए जैसलमेर बाइपास के मार्ग पर 65 लग्जरी व लो फ्लोर बसें चलाई जाएंगी। ये बसें 12 मीटर लंबी होंगी, जो 2 मिनट के अंतराल से चलेंगी। एडीबी द्वारा किए गए प्रारंभिक सर्वे में यह बात सामने आई कि पावटा सर्किल से पीक अवर्स के दौरान एक घंटे में करीब 2 हजार लोग सिटी बसों से व 12 सौ लोग ऑटो में सफर करते हैं। इसी प्रकार जालोरी गेट सर्किल से एक घंटे में 16 सौ लोग सिटी बस व 5 सौ लोग निजी वाहनों का उपयोग करते हैं


18 पॉइंट के लिए 30 स्टेशन बनेंगे

मंडोर से जैसलमेर बाइपास तक बीआरटीएस कॉरिडोर के रास्ते में 18 पॉइंट तय किए गए हैं। इसके लिए लगभग 30 स्टेशन बनाने होंगे। इसको साकार करने में कई चुनौतियों का सामना करना पड़ेगा। यह बात विशेषज्ञ दल ने भी स्वीकार की है। चुनौतियों का सामना करने के लिए विशेषज्ञ टीम ने तीन महत्वपूर्ण सुझाव चुने है। विशेषज्ञों ने जोधपुर की समस्याओं को ध्यान में रखते हुए इसके समाधान को भी दर्शाया है।


ट्रैफिक सेंसर से चलेंगी बसें

विशेषज्ञों का कहना है कि जैसलमेर बाइपास से पाल रोड तक बीआरटीएस के संचालन में कोई समस्या नहीं होगी, क्योंकि यहां सड़क की चौड़ाई उपयुक्त है। जालोरी गेट से स्टेडियम के व्यस्ततम व छोटे मार्ग पर दिक्कत आएगी। इसके लिए जालोरी गेट से पावटा तक की सड़क को सुधारने की जरूरत है। यहां इनर रोड बनाई जाए। इसके साथ ही पैदल चलने वाले लोगों को सुरक्षित फुटपाथ भी उपलब्ध करवाया जाए। इसकी लागत 264 करोड़ आंकी गई है।

टनल (सुरंग) में चलाएं इलेक्ट्रिक बसें

एडीबी टीम ने सर्वे में माना है कि टनल बनाने में बढ़ते भूजल की समस्या आएगी। इसके साथ ही प्रदूषण भी होगा। धुएं की निकासी के लिए वेंटिलेशन के उपाय भी करने होंगे। विशेषज्ञों ने बताया कि जालोरी गेट से स्टेडियम तक टनल बनाकर उसमें बीआरटीएस चलाई जाए। इससे सड़क पर चलने वाला यातायात बाधित नहीं होगा और बीआरटीएस का भी सुगम संचालन हो सकेगा। इस परियोजना पर 338 करोड़ की लागत प्रस्तावित की गई है। विशेषज्ञों का मानना है कि इस परियोजना में निर्माण व मेंटेनेंस की समस्या आएगी।

समग्र अरबन रिन्युअल (सीएमपी)

शहर में प्रस्तावित बीआरटीएस रूट का अधिकांश हिस्सा 12 से 17 मीटर चौड़ा है। इसकी चौड़ाई बढ़ाकर 25 से 30 मीटर तक करनी होगी। इसके लिए सड़क के दोनों ओर बनी पुरानी बिल्डिंग का पुनर्निर्माण किया जाएगा। इसके लिए जालोरी गेट से पावटा तक के मार्ग को चिह्न्ति किया गया है। इस परियोजना में सबसे बड़ी समस्या रणछोडऱाय मंदिर व जसवंत सराय का हेरिटेज लुक बिगड़ने की रहेगी। इस परियोजना की लागत सबसे ज्यादा 617 करोड़ आंकी गई है।


अहमदाबाद पहुंचा अफसरों का दल

जोधपुर में अहमदाबाद की तर्ज पर बीआरटीएस की सुविधा चालू करने के लिहाज से जेडीए व नगर निगम के चार अधिकारियों का एक दल शुक्रवार को अहमदाबाद पहुंचा। यह दल यहां सर्वाधिक सुविधायुक्त बीआरटीएस का अध्ययन करने के बाद अपनी रिपोर्ट सौंपेगा। प्रोजेक्ट डायरेक्टर वैभव गलारिया ने बताया कि बीआरटीएस की सफलता के लिए संस्थागत विकास की जरूरत है।

बीआरटीएस से बढ़ गई लैंड वैल्यू

कार्यशाला के समापन सत्र में अहमदाबाद जनमार्ग लिमिटेड के एग्जीक्यूटिव डायरेक्टर यूसी पांड्या ने बीआरटीएस का पावर प्रजेंटेशन प्रस्तुत कर जानकारी दी। इसमें स्मार्ट कार्ड के जरिए टिकट खरीदने, निर्धारित स्टेशनों पर प्रतीक्षालय के साथ अन्य सुविधाएं भी हैं। इसके संचालन से पैदल एवं अन्य वाहनों से आवागमन करने वाले लोग प्रभावित नहीं होते। सभी के लिए अलग रास्ते निर्धारित रहते हैं। वर्ष 2009 में शुरू हुए बीआरटीएस के सफर के बाद से जमीनों की कीमतों में 50 से 105 फीसदी की बढ़ोतरी हुई है। पहले चरण में 88.5 किमी बीआरटीएस कॉरिडोर बनाया गया, दूसरे चरण में 13.5 किमी विस्तार किया जाना है। इस दौरान एडीबी के प्रतिनिधि कीची तमाकी सहित अन्य लोगों ने पांड्या से सवाल भी पूछे।

source
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old June 24th, 2012, 09:58 PM   #106
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

मल्टीस्टोरी होगा राईकाबाग बस स्टैंड


Quote:
जोधपुर.रोडवेज का राईकाबाग बस स्टैंड मल्टीस्टोरी होगा। अंतरराज्यीय स्तर के साथ ही इसे मॉडल बस स्टैंड के रूप में विकसित किया जाएगा। रोडवेज प्रबंधन ने पावटा सब्जी मंडी की 12 बीघा भूमि बस स्टैंड के लिए देने की सहमति बनने के बाद तैयारियां शुरू कर दी हैं।

राईकाबाग बस स्टैंड को अंतरराज्यीय स्तर का बनाने के लिए पावटा सब्जी मंडी की 12 बीघा भूमि दिए जाने का निर्णय मंगलवार को जयपुर में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में आयोजित बैठक में हुआ था। रोडवेज अधिकारियों के अनुसार हालांकि बस स्टैंड का अभी कोई मॉडल तय नहीं किया गया है, लेकिन इसके चंडीगढ़ अथवा कोटा के निर्माणाधीन बस स्टैंड की तर्ज पर बनने की संभावना है। उल्लेखनीय है कि पिछले लंबे समय से मंडी को शिफ्ट करने की कवायद चल रही थी, लेकिन मामला अटक ही जाता था।

बस स्टैंड विस्तार का स्वागत :

राजमाता विजयराजे सिंधिया कृषि उपज मंडी समिति (अनाज) के बोर्ड सदस्यों ने पावटा सब्जीमंडी को शिफ्ट करने तथा बस स्टैंड को अंतरराज्यीय स्तर का बनाने के निर्णय का स्वागत किया है। वहीं अनाज मंडी की 30 बीघा जमीन भदवासिया मंडी को देने का पुरजोर शब्दों में विरोध किया है।

अध्यक्ष कीर्तिसिंह, उपाध्यक्ष राजेंद्र परिहार तथा सदस्य धर्मेंद्र भंडारी ने जहां बस स्टैंड विस्तार एवं पावटा सब्जी मंडी शिफ्ट करने का स्वागत किया है। वहीं भदवासिया मंडी को रोडवेज वर्कशॉप की भूमि के साथ अनाज मंडी की भूमि देने का विरोध किया है। इन पदाधिकारियों कहना है कि बोर्ड की बैठक में अनाज मंडी की जमीन हस्तांतरण नहीं करने का प्रस्ताव पारित कर सरकार को भेजा गया था। इसके बावजूद अनाज मंडी की 30 बीघा जमीन दे दी गई है, इसका पुरजोर शब्दों में विरोध किया जाता है।

मल्टी स्टोरी स्टैंड, बैंक और कैफेटेरिया की भी सुविधा

राईकाबाग बस स्टैंड ट्रेकी योजना के तहत बनाया जाएगा। इसके तहत जो संस्था बस स्टैंड का निर्माण करके देगी, वही पांच-दस साल तक बस स्टैंड का रखरखाव भी करेगी। इसके बदले वह बस स्टैंड पर कॉमर्शियल कॉम्प्लेक्स, मिनी बाजार या मॉल आदि डवलप कर सकती है।

ये सुविधाएं होंगी

भूतल पर 20 से अधिक बसें एक साथ खड़ी करने के लिए प्लेटफॉर्म, यात्रियों के लिए वेटिंग रूम, कैफेटेरिया, टिकट खिड़कियां, प्रबंधक (यातायात) का चैंबर, वाटर हट, यूरिनल इत्यादि बनेंगे। इससे ऊपर प्रशासनिक खंड का निर्माण होगा, जहां महाप्रबंधक कार्यालय, मुख्य प्रबंधक कार्यालय, लेखा शाखा व कर्मचारियों के बैठने की व्यवस्था होगा। इससे ऊपर की मंजिल पर यात्रियों के ठहरने के लिए होटल, रेस्टोरेंट, बैंक, एटीएम, इंटरनेट हट, एसटीडी-पीसीओ इत्यादि की सुविधा होगी। यहां मल्टी स्टोरी वाहन स्टैंड भी बनाया जाएगा, जिससे यात्रियों को छोड़ने आने वालों एवं डेली अप-डाउन करने वालों के वाहन सुरक्षित रह सकेंगे।

आधी भूमि पर बस स्टैंड

राईकाबाग बस स्टैंड वर्तमान में 9 हजार वर्गगज अर्थात करीब पौने पांच बीघा जमीन पर बना हुआ है। पावटा सब्जी मंडी की 12 बीघा 5 बिस्वा जमीन मिलने के बाद जमीन करीब पौने सत्रह बीघा हो जाएगी। इसमें से आधी जमीन पर मॉडल बस स्टैंड का निर्माण कराया जाएगा, जबकि पीछे की तरफ आधी जमीन पर वर्कशॉप बनाए जाने की प्लानिंग है।

अभी प्लान बन रहा है

'जोधपुर में मॉडल बस स्टैंड बनाने के लिए आर्किटेक्चर, कंसल्टेंट की नियुक्तिकी जाएगी। इसके मॉडल के बारे में अभी ज्यादा नहीं कह सकते, क्योंकि प्लान बन रहा है। इतना कह सकता हूं कि जोधपुर का बस स्टैंड आलीशान और आधुनिक सुविधाओं से युक्तहोगा।'

मंजीत सिंह, अध्यक्ष एवं प्रबंधक निदेशक, रोडवेज

रेलवे स्टेशन और बस स्टैंड जोड़े जा सकते हैं

'रोडवेज बस स्टैंड व राईकाबाग रेलवे स्टेशन को दिल्ली के मेट्रो स्टेशन की तर्ज पर स्काई वॉक या एस्केलेटर लगाकर जोड़ा जाए तो और चार चांद लग सकते हैं।'

एचएल अटल, सचिव, जेडीए

..और इस बीच मंडी शिफ्ट करने से यह होगा फायदा

पावटा मंडी भदवासिया शिफ्ट होने से बसें रसाला रोड पुलिया से सीधे निकलने लगेंगी। इससे पावटा चौराहे पर यातायात का दबाव कम होगा

फल-सब्जी मंडी के कारण यहां ठेले, टैक्सी, तांगों का आवागमन बढ़ा हुआ है, यह खत्म हो जाएगा।
फल-सब्जी मंडी अभी शहर के बीच में है, इसलिए अधिक लोग आते हैं। इसके 6 किलोमीटर दूर भदवासिया शिफ्ट होने से हाउसिंग बोर्ड के 21वें सेक्टर स्थित स्थानीय मंडी सहित अन्य क्षेत्रों में मंडियां विकसित होने की संभावना बनेगी।

जल्दी होगा शिलान्यास

'जितनी जमीन मांगी, सरकार ने उतनी जमीन दी है। इससे मंडी के विस्तार की 50 साल आगे तक की योजना बनाने में सुविधा होगी। राज्य सरकार ने तीन माह में मंडी का शिलान्यास करने व एक साल में योजना पूरी करने के आदेश दिए हैं।'

जब्बरसिंह, सचिव, कृषि उपज मंडी (फल, सब्जी व अनाज), जोधपुर

source
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old June 25th, 2012, 08:29 PM   #107
Cosmicbliss
Registered User
 
Join Date: Aug 2009
Location: Small towns enthusiast
Posts: 4,854
Likes (Received): 370

Quote:
Originally Posted by Yagya View Post
मल्टीस्टोरी होगा राईकाबाग बस स्टैंड
What does the article mean?
Cosmicbliss no está en línea   Reply With Quote
Old June 26th, 2012, 01:40 AM   #108
World8115
Registered User
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 10,038

Rai-ka-Bagh bus stand to be multi-storied
__________________
F______L______I______C______K______R

Hyderabad Metro Rail (HMR) Latest videos - Youtube | Flickr
World8115 no está en línea   Reply With Quote
Old August 4th, 2012, 06:58 PM   #109
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

शहर के तीन जोन में बनेंगे चार पार्किंग प्लेस


Quote:
भास्कर न्यूजत्नजोधपुर

शहर की हार्टलाइन (जालोरी गेट से महामंदिर) सहित 15 अन्य रूट पर यातायात को सुगम करने के लिए नगर निगम ने शहर को तीन जोन में बांटते हुए चार अलग-अलग स्थानों पर पार्किंग प्लेस विकसित करने की कवायद शुरू कर दी है। नगर निगम ने गांधी मैदान व रावण का चबूतरा मैदान में अंडरग्राउंड और बाईजी का तालाब व नई सड़क स्थित राजीव गांधी सर्किल पर ऑटोमैटिक मल्टीलेवल पार्किंग की प्री-फिजिबिलिटी रिपोर्ट तैयार करने को लेकर सलाहकार की नियुक्ति के लिए प्रस्ताव मांगे हैं। प्रस्तावित चारों स्थानों पर पब्लिक प्राइवेट पार्टनरशिप (पीपीपी) के आधार पर पार्किंग प्लेस विकसित होंगे। सलाहकार इन क्षेत्रों में पार्किंग की जरूरत को ध्यान में रखकर यह आकलन करते हुए, कि किस जोन में कितनी पार्किंग की जरूरत है, प्रस्ताव तैयार करेगा।

source
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old February 14th, 2013, 10:10 AM   #110
IU
->
 
IU's Avatar
 
Join Date: Apr 2006
Location: Hanooz Dilli dur ast
Posts: 10,546

BDP Architects have designed the campus' masterplan:

Quote:
Indian Institute of Technology (IIT) in Jodhpur, Rajasthan, India - Competition winning masterplan for new academic campus





We have designed the campus to become a beacon of engineering excellence, inspiring and sensitive to its natural surroundings, and creating a place which will leave a very strong impression on everyone who lives, works or visits.

The campus will be an international exemplar of sustainability and bio-remediation with an Energy Net Zero Strategy. The team’s starting point has been to understand fully the climate and geography of the region and how the masterplan can enhance and shape the environment to create a sustainable and car free place to live and work.

We are part of a consortium led by local Indian practice Studio for Habitat Futures and including Environmental Design Solutions.













[img]http://i49.************/6z0xfd.jpg[/img]



Model:



Brief
• masterplan a new campus in a semi desert region
• create a a physical manifestation of the aims, aspirations and character of IIT Rajasthan
• strengthen the academic and research base which already exists in India

Results
• a sustainable and car free place to live and work, resulting in an inspirational and effective learning environment
• a major strategic investment for the future social and economic development in India
IU no está en línea   Reply With Quote
Old February 16th, 2013, 12:05 AM   #111
IU
->
 
IU's Avatar
 
Join Date: Apr 2006
Location: Hanooz Dilli dur ast
Posts: 10,546

Renders of the new Rajasthan High Court in Jodhpur:

[img]http://i50.************/2edqnvc.jpg[/img]
- from Baba Marbles

[img]http://i50.************/2mhbhb4.jpg[/img]
- from Aone Infraconsultants
IU no está en línea   Reply With Quote
Old February 16th, 2013, 12:27 AM   #112
IU
->
 
IU's Avatar
 
Join Date: Apr 2006
Location: Hanooz Dilli dur ast
Posts: 10,546

Quote:
Originally Posted by Yagya View Post
Under construction - Jodhpur AIIMS
Quote:
Originally Posted by Yagya View Post

60% of work for Jodhpur AIIMS completed

जोधपुर एम्स का 60 फीसदी काम पूरा: केंद्रीय स्वास्थ्य राज्य मंत्री

render from their website:

[img]http://i46.************/218ub4.jpg[/img]
IU no está en línea   Reply With Quote
Old March 3rd, 2013, 02:56 PM   #113
engineer.akash
0821- City of Palaces!
 
engineer.akash's Avatar
 
Join Date: Oct 2008
Posts: 36,492
Likes (Received): 5728

Karnataka based VRL travels

__________________
LOVE INDIA SERVE INDIA
engineer.akash no está en línea   Reply With Quote
Old March 3rd, 2013, 03:11 PM   #114
engineer.akash
0821- City of Palaces!
 
engineer.akash's Avatar
 
Join Date: Oct 2008
Posts: 36,492
Likes (Received): 5728

Karnataka based SRS travels



Soon will start Bangalore-Jodhpur too
__________________
LOVE INDIA SERVE INDIA
engineer.akash no está en línea   Reply With Quote
Old March 3rd, 2013, 08:15 PM   #115
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

अब ट्रैफिक नियम तोडऩे वालों की होगी फोटोग्राफी


Quote:
जोधपुर. शहर भर में यातायात नियंत्रण में लगी पुलिस अब लोगों से उलझने के बजाय ई-चालान पर जोर देगी। इसके लिए शहर के हर इलाके में ट्रैफिक ड्यूटी कर रही टीम यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों की फोटोग्राफी व वीडियोग्राफी करेगी। इसके साथ ही शहर के विभिन्न इलाकों में क्लोज सर्किट कैमरे लगाने की तैयारियां भी अंतिम चरण में हैं।

शहर में यातायात पुलिस के अधिकांश अधिकारी व कर्मचारी कभी न कभी लोगों के आक्रोश का शिकार हो रहे हैं। इनमें कई बार यातायात नियमों का उल्लंघन करने वाले नेता होते हैं तो कई बार प्रभावशाली लोग। ऐसे में उनका चालान बनाना पुलिस टीम के लिए भारी साबित होता है।

ऐसे कई उदाहरण सामने आ चुके हैं, जब चालान बनाते समय लोगों की भीड़ एकत्र हो जाती है और माहौल पुलिस विरोधी होने लगता है। इससे न केवल पुलिस की छवि पर विपरीत प्रभाव बल्कि उनके मनोबल पर भी असर पड़ता है। इस समस्या से निजात दिलाने के लिए ट्रैफिक की व्यवस्था में आमूल-चूल परिवर्तन करने की कवायद शुरू की गई है।

इसके तहत ट्रैफिक पुलिस की टीमों को कैमरे उपलब्ध करवाए जाने की तैयारी हो रही है। इसके साथ ही गत बजट में राज्य सरकार की घोषणा के अनुरूप शहर के अलग-अलग इलाकों में क्लोज सर्किट कैमरे लगाने की तैयारी भी अंतिम चरण में है।

हमारा ध्येय नागरिकों की सुरक्षा : डीसीपी
पुलिस उपायुक्त अजयपाल लांबा का कहना है कि शहर के सभी नागरिकों की सुरक्षा पुलिस की पहली प्राथमिकता है। यातायात नियमों की पालना भी उसी का हिस्सा है। कई बार यातायात नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ कार्रवाई करते समय लोगों का आक्रोश भी झेलना पड़ता है।

हमारा प्रयास ऐसी स्थितियों से दूर रहकर यातायात व्यवस्था में और अधिक सुधार का है। इसलिए ई-चालान की व्यवस्था पर जोर देकर ट्रैफिक नियमों का पालन नहीं करने वालों के घर पर चालान भेजेंगे।

source
Those breaking traffic rules to be photographed/videographed. The installation of cctvs in various areas of the city in final phases.
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old March 3rd, 2013, 08:22 PM   #116
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

अंतरराज्यीय बस स्टैंड के टेंडर फाइनल होने से पहले इंजीनियरों की टीम जोधपुर पहुंची

Quote:
जोधपुर। रोडवेज प्रबंधन ने जोधपुर में अंतरराज्यीय बस स्टैंड व सेंट्रल वर्कशॉप के निर्माण के टैंडर फाइनल होने से पहले जयपुर मुख्यालय से एक इंजीनियरों की टीम भेजी है। इस टीम ने पावटा मंडी,भदवासिया सेंट्रल वर्कशॉप व देसूरिया में आबंटित भूमि देखी।

राजस्थान राज्य पथ परिवहन निगम के सीएमडी मंजीत सिंह के निर्देश मुख्यालय से आई इंजीनियरों की इस टीम ने शनिवार शाम व शुक्रवार को दिन में सेंट्रल वर्कशॉप के लिए जेडीए द्वारा देसूरियां में आवंटित 17 बीघा जमीन देखी। इसके बाद यह टीम भदवासिया स्थित सेंट्रल वर्कशॉप पहुंची। यह टीम पावटा सब्जी मंडी की भूमि जो बस स्टैंड के विस्तार एवं निर्माण के लिए मिलनी है,यह देखी। इंजीनियरों की यह टीम अपने साथ नए सेंट्रल वर्कशॉप व अंतरराज्यीय बस स्टैंड के नक्शे ओर ब्लू प्रिंट साथ लेकर आए थे। इसके आधार पर कहां क्या बनेगा इसका अवलोकन किया।

टैंडर जारी किए हैं :रोडवेज के इंजीनियरों की टीम ने बताया कि टैंडर जारी कर दिए हैं,इसी माह खुलने एवं फाइनल होने वाले हैं । इससे पहले लोकेशन देखने के लिए जोधपुर आए हैं।

source
Tenders for interstate bus stand and central workshop issued.
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old March 3rd, 2013, 08:26 PM   #117
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

जोधपुर एम्स में 2014 से शुरू होगा हॉस्पिटल, 275 करोड़ मिलने की संभावना

Quote:
जयपुर. गुरुवार को बजट घोषणा से जोधपुर एम्स को 275 करोड़ रुपए मिलेंगे। सभी संस्थानों के लिए यह बजट 1650 करोड़ रुपए है। हॉस्पिटल बनने के बाद राज्य में दिल्ली की तर्ज पर बेहतर इलाज मुहैया हो सकेगा। इसमें हार्ट, नर्वस सिस्टम, लीवर से जुड़ी गंभीर बीमारियों के ऑपरेशन भी होंगे।


केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय ने देश में जोधपुर के साथ ही भोपाल, भुवनेश्वर, पटना, रायपुर, ऋषिकेष में एक साथ एम्स की स्थापना की थीं। एम्स प्रशासन के मुताबिक हॉस्पिटल बनने के बाद पहले चरण में ओपीडी के साथ ही सामान्य ऑपरेशन, गायनी सहित अन्य सुविधाएं मुहैया होंगी। दूसरे चरण में सुपर स्पेशलिस्ट सुविधाएं मुहैया कराई जाएंगी। हालांकि दूसरे चरण की सुविधाएं उपलब्ध होने में डेढ़ से दो साल का समय लग सकता है। हॉस्पिटल में फैसिलिटी को देखते हुए ही बड़ी संख्या में भर्तियां भी होंगी।


हॉस्पिटल शुरू होने के बाद प्रदेश से गंभीर बीमारियों के इलाज के लिए दिल्ली रूख करने वाले प्रदेशवासियों को आर्थिक रूप से काफी राहत मिलेगी। हॉस्पिटल में नियमित रूप से दिल्ली एम्स के विशेषज्ञों की सेवाएं मिलने का भी रास्ता साफ होगा।


स्वास्थ्य सेवाओं को मिलेगा लाभ: बजट में स्वास्थ्य परिवार कल्याण मंत्रालय के लिए 37, 330 करोड़ का प्रस्ताव रखा गया है। नए राष्ट्रीय स्वास्थ्य मिशन के लिए 21, 239 करोड़ रुपए रखे गए हैं। इस राशि में से अच्छी खासी राशि राजस्थान को मिलने की भी संभावना जताई जा रही है

source
Jodhpur AIIMS to begin in 2014. 275 crores allocated in the budget.
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old March 15th, 2013, 05:07 PM   #118
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

आईआईटी के नए भवन का मास्टर प्लान तैयार

Quote:
आईआईटी जोधपुर के बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट के चेयरमैन प्रो. गोवर्धन मेहता ने कहा कि आईआईटी के नए भवन का मास्टर प्लान तैयार हो चुका है। नया भवन अत्याधुनिक सुविधाओं से युक्त होगा। 16 अप्रैल को मानव संसाधन विकास मंत्री कपिल सिब्बल व मुख्यमंत्री अशोक गहलोत की मौजूदगी में इस भवन का निर्माण शुरू होगा।

उसी समय मास्टर प्लान भी सार्वजनिक किया जाएगा। वे बुधवार को आईआईटी के अस्थाई कैंपस में मीडिया से बातचीत कर रहे थे।

उन्होंने बताया कि आईआईटी का पूरा कैंपस सोलर एनर्जी आधारित होगा। साथ ही कैंपस में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम होगा तथा ग्रीन कैंपस तैयार किया जाएगा। आईआईटी की प्लानिंग के अनुसार वर्ष 2030 तक नए कैंपस का कार्य तीन चरणों में पूर्ण होगा।

अगले तीन वर्ष में पहले चरण का काम पूरा कर स्टूडेंट्स को नए कैंपस में शिफ्ट कर दिया जाएगा। इस दौरान उन्होंने माना कि कैंपस का निर्माण कार्य शुरू होने में देरी हुई है, लेकिन हम इस कमी को जल्द पूर्ण कर लेंगे। प्रो. मेहता ने आईआईटी का दीक्षांत समारोह भी शीघ्र आयोजित करने की बात कही।

आकाश टैबलेट का चैप्टर क्लोज

आईआईटी बोर्ड ऑफ मैनेजमेंट के चेयरमैन प्रो. गोवर्धन मेहता ने बताया कि आकाश टैबलेट का चैप्टर अब क्लोज हो चुका है। सरकार ने हमें आकाश वन की जिम्मेदारी सौंपी थी। सरकार को हमने यह भी बताया कि आकाश में क्या कमियां हैं। सरकार ने आकाश-टू का काम हमारी ही सिस्टर इंस्टीट्यूट को दे दिया, वो भी अच्छा काम कर रही है।

क्या खास होगा आईआईटी में

नए कैंपस को भी सोलर आधारित बनाने की योजना है।

वर्ष 2030 तक आईआईटी में करीब 10 हजार लोग होंगे।

भवन निर्माण की भी खास योजना है। भवन का तापमान पूरे वर्ष तक 27 डिग्री सेल्सियस के आस-पास रहेगा।
कैंपस में वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम होगा तथा ग्रीन कैंपस तैयार किया जाएगा।

राज्य सरकार देगी 1.5 करोड़

एंटरप्रिन्योरशिप डवलपमेंट के लिए राज्य सरकार आईआईटी राजस्थान को हर साल 1.5 करोड़ रुपए देगी। इसी के तहत आईआईटी ने देश के इंजीनियरिंग कॉलेजों के ग्रुप्स से ‘आईसीटी फॉर वुमन एंड चाइल्ड हेल्थ’ विषय पर बिजनेस एंड आइडियाज प्रोजेक्ट मांगे थे। आईआईटी के इंडस्ट्रियलिस्ट पैनल में इन सैकड़ों कॉलेजों के प्रोजेक्ट्स में 11 ग्रुप को सेलेक्ट किया है। इन सभी को प्रोजेक्ट वाइज अधिकतम 10 लाख का फंड देकर कार्य करवाया जाएगा।

आईआईटी में शुरू होगा नया कोर्स

आईआईटी जोधपुर के निदेशक प्रो. पीके कालरा ने बताया कि आईआईटी में इस बार बायो इंस्पायर सिस्टम साइंस नाम से नया बीटेक कोर्स शुरू होगा। इस कोर्स में न्यूरो साइंस से जुड़ा सिलेबस होगा। इस कोर्स में 40 सीटों पर प्रवेश दिया जाएगा। प्रो. कालरा ने बताया कि जोधपुर में जब आईआईटी शुरू हुई तो कुल 120 सीटों पर प्रवेश दिया गया। गत तीन वर्ष में 80 सीटें बढ़ गईं और इस वर्ष कुल 200 सीटों पर प्रवेश प्रक्रिया पूर्ण की जाएगी

source
__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old March 24th, 2013, 08:50 AM   #119
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

Quote:
Originally Posted by IndiansUnite View Post
Renders of the new Rajasthan High Court in Jodhpur:
Appears to be UC

__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses

Illusionist liked this post
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Old March 24th, 2013, 08:55 AM   #120
Yagya
ecrasez l'infame
 
Yagya's Avatar
 
Join Date: Oct 2010
Posts: 5,394

Quote:
Originally Posted by Yagya View Post
This also seems to be UC

__________________
Rajasthan|पधारो म्हारे देस...

In Realm Of The Senses
Yagya no está en línea   Reply With Quote
Sponsored Links
Advertisement
 


Reply

Thread Tools

Posting Rules
You may not post new threads
You may not post replies
You may not post attachments
You may not edit your posts

BB code is On
Smilies are On
[IMG] code is On
HTML code is Off



All times are GMT +2. The time now is 12:09 PM.


Powered by vBulletin® Version 3.8.11 Beta 4
Copyright ©2000 - 2019, vBulletin Solutions Inc.
vBulletin Security provided by vBSecurity v2.2.2 (Pro) - vBulletin Mods & Addons Copyright © 2019 DragonByte Technologies Ltd.
Feedback Buttons provided by Advanced Post Thanks / Like (Pro) - vBulletin Mods & Addons Copyright © 2019 DragonByte Technologies Ltd.

SkyscraperCity ☆ In Urbanity We trust ☆ about us